मिडिल क्लास के लोगों को मकान खरीदने के लिए मिलेगी सब्सिडी

अब मिडिल क्लास के लोगों को मकान खरीदने के लिए केंद्र सरकार ने क्रेडिट लिंक सब्सिडी स्कीम (सीएलएसएस) को 15 महीने बढ़ाकर मार्च 2019 तक कर दिया है मतलब क्रेडिट लिंक सब्सिडी स्कीम अब मार्च 2019 तक चलेगी जो कि पहले दिसंबर में बंद होने वाली थी, इससे मिडिल क्लास के लोगों को अपना खुद का मकान खरीदने में आसानी होगी।

क्या है क्रेडिट लिंक सब्सिडी स्कीम: क्रेडिट लिंक सब्सिडी स्कीम प्रधानमंत्री द्वारा चलाई गई एक ऐसी स्कीम है जिसमें मिडिल क्लास के लोगों को घर खरीदने में लोन में जो ब्याज होता है उसमें सब्सिडी दी जाएगी ,प्रधानमंत्री द्वारा सीएलएसएस योजना दिसंबर 2016 शुरू की गयी थी, इसके तहत अगर किसी मिडिल क्लास के व्यक्ति की इनकम  12 लाख  है तो उनको लोन पर ब्याज मैं 4 परसेंट की सब्सिडी मिलेगी , अर्थात अगर 12 लाख इनकम वाला व्यक्ति 35 लाख का घर ख़रीदता है इसमें से अगर वो 30लाख का लोन 10% ब्याज पर लेता है तो उसे 6% ब्याज देना पड़ेगा , इसी तरह अगर किसी की 18 लाख आय हैं तो उनको लोन पर ब्याज में 3% सब्सिडी मिलेगी , अर्थात वो 35 लाख का घर खरीदता है और उसमे 10% के ब्याज पर 30 लाख का लोन लेता है तो उसे 10 के बजाय 7%ब्याज देना होगा |                     

सब्सिडी की लिमिट: सीएलएसएस के तहत अगर किसी मिडिल क्लास वर्ग की 1200000 आय हैं तो उनको 90 वर्ग मीटर और अगर किसी की 1800000 रूपए आय है तो उनको 110 वर्ग मीटर घर खरीदने पर लोन के ब्याज में सब्सिडी दी जाएगी।

आम लोगों को कितना होगा फायदा: प्रधानमंत्री की क्रेडिट लिंक सब्सिडी स्कीम के तहत आम लोगों को ₹2.50लाख से ₹2.60 लाख का फायदा मिल सकता है , इसमें मूलधन कम होने से लोन की किस्त भी कम होगी, जिससे आम लोगों किस्त जमा करने में कोई परेशानी नहीं झेलनी पड़ेगी ।

एक्स्ट्रा चार्ज से मिलेगी राहत : इस योजना के तहत लोन धारक को एक्स्ट्रा चार्ज भी नहीं देना पड़ेगा ,
फिर चाहे वो बैंक हो या कोइ फाईनेंसिंग कंपनी ही क्यों न हो |
Previous
Next Post »

Also like this